By Umesh

शिवलिंग पर दूध ही क्यों चढ़ाया जाता है?

 आइए जानते है, शिवलिंग पर दूध चढ़ाने की  सांस्कृतिक कारणों और इससे जड़ी सदियों पुरानी प्रथा से जुडी की कहानी को।

 हमारे हिंदू धर्म में एक धार्मिक अनुष्ठान के हिस्से के रूप में शिवलिंग पर दूध चढ़ाया जाता है।

 दूध से शिवलिंग का रुद्राभिषेक करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

 शिव जी की पूजा के बाद दूध का दान करना शुभ माना जाता है।

 शिवलिंग पर दूध चढ़ाने का संबंध समुद्र मंथन की कथा से है।

 मंथन के दौरान जहरीला जहर निकला और देवताओं और राक्षसों को बचाने के लिए भगवान शिव ने इसे पी लिया।

 विष ने भगवान शिव का कंठ नीला कर दिया, जिससे उनका नाम नीलकंठ पड़ा।

 विष का प्रभाव भगवान शिव और देवी गंगा पर पड़ने लगा।

 देवी-देवताओं ने जहर के प्रभाव को कम करने के लिए भगवान शिव से दूध का सेवन करने का आग्रह किया।

 शिवलिंग पर दूध चढ़ाने से उसके शरीर में विष का प्रभाव कम होता है।

 इसी घटना से शिवलिंग पर दूध चढ़ाने की परंपरा शुरू हुई।

 More stories 👇

घर में शंख रखने के जाने सही नियम!

 घर में शंख रखने के जाने सही नियम!